Saturday, January 23, 2021

Bhawna Kant ( भावना कांत ) Kno Hai

 Bhawna Kant ( भावना कांत ) Kno Hai (हिंदी में

 
Bhawna Kanth ( भावना कंठ ) Kno Hai
Bhawna kanth 


26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस आ रहा है तैयारी शुरू हो चुकी है 18 जनवरी को इसी से जुड़ी एक खबर आई क्या ये कि इस बार परेड में वायुसेना की महिला फाइटर पायलट हिस्सा ले रही है ऐसा पहली बार होने वाला है उनका नाम है फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कांत ,  भावना गणतंत्र दिवस की परेड में भारतीय वायु सेना  यानि IAF की झांकी का  हिस्सा रहेंगे यह झांकी मेड इन इंडिया  थीम पर आधारित है इसमें  एनपीएस तेजा , लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर ,  रोहनिया डार्क,  आकाश मिसाइल और सुखोई  30MKI  के मॉडल को प्रदर्शित किया जाएगा  भावना कहती है “ मैं बचपन से टीवी पर रिपब्लिक डे परेड देखती आ रही हूं और यह बहुत गर्व की बात है कि अब मैं इसका हिस्सा बन रही हूं मैं आगे रफाल और सुखोई समेत   बाकी फाइटर जेट्स उड़ाना चाहूंगी ’’  

फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कांत का नाम इस वक्त हर जगह छाया हुआ है लोग सोशल मीडिया पर उन्हें बधाई दे रहे हैं  केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने भी उन्होंने ट्वीट किया  और लिखा “  सशक्त महिलाओं के नेतृत्व वाला न्यू इंडिया फ्लाइट नेट में भावना कांत गणतंत्र दिवस की परेड में हिस्सा लेने वाली पहली महिला फाइटर पायलट बनने वाली है यह पूरे देश के लिए गर्व की बात है ” 


भावना कांत कौन है?

एक पहचान तो उनकी हो गई- की गणतंत्र दिवस की  परेड  में हिस्सा लेने वाली पहली महिला फाइटर पायलट के तौर पर और भावना युद्ध मिशन में दिन के वक्त मे फाइटर जेंट्स  उड़ाने की  योग्यता हासिल करने वाली वायु सेना की पहली महिला फाइटर पायलट भी है यह योग्यता उन्होंने मई 2019 में हासिल की है  जब 2015 में भारत सरकार ने वायु सेना  की फाइटर टीम में  महिला पायलट की भर्ती कराने का फैसला किया था यह कदम एक्सपेरिमेंट के तौर पर  उठाया गया था इसके बाद  जुलाई 2016 में 3 महिलाओं ने वायु सेना में फ्लाइंग ऑफिसर के तौर पर जॉइनिंग की थी  यह महिला फाइटर पायलट का पहला मैच था इस बैच में भावना कांत के साथ अवनी चतुर्वेदी ,और मोहना सिंह शामिल थी इसके बाद तीनों महिला फाइटर पायलट को फाइटर जेट्स उड़ाने का  ऑपरेशन ले बस पूरा किया  करना था  22 मई 2019 के दिन भावना ने यह सिलेबस पूरा किया था  किस दिन इंडियन एयरपोर्ट ने ट्वीट किया “ फ्लाइंग लेफ्टिनेंट भावना कांत ने MiG-21 Bisons aircraft उड़ाने का यह ऑपरेशन सिलेबस पूरा किया उनके  कैप में एक और पंख जुड़ गया है वह पहली महिला फाइटर है जो लड़ाकू विमान से दिन में मिशन करने की योग्यता रखती है

 भावना इस वक्त राजस्थान के  एयर बेस में पोस्टेड है  जहां वह MiG-21 Bisons aircraft फाइटर प्लेन  उड़ आती है वही जिस एक्सपेरिमेंट के तौर पर हवाई सेना की फाइटर टीम में महिलाओं को लेने का  फैसला लिया गया था उसमें 2015 के बाद से अब तक 10 महिलाओं को दिया जा चुका है 

Bhawna Kanth ( भावना कंठ ) Kno Hai
Bhawna  Kanth



भावना का बचपन  / भावना यहां तक पहुंची कैसे 

 उनका जन्म हुआ बिहार के दरभंगा जिले में दिसंबर 1992 में  इस हिसाब से भावना अभी 28 वर्ष की है उनके  पिता बेगूसराय  में इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन में काम करते  थे  इसलिए भावना की स्स्कूलिंग यहीं से हुई  बीएमएस कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग  से BE  करने के बाद  भावना का भारतीय वायुसेना में इलेक्शन हो गया  उनके पिता तेज नारायण कांत कहते हैं “ शुरू से ही भावना पढ़ाई में अच्छी थी वह उड़ने के बारे में स्कूल के दिनों से ही बात करती थी भले ही वह इंजीनियरिंग कर रही थी लेकिन साथ ही साथ  एयर फोर्स में जाने की भी कोशिश लगातार  कर रही थी हमें उस पर गर्व है ”

 मार्च 2020 में भावना , अवनी और मोहना  को नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया इस दौरान भावना ने पीएम नरेंद्र मोदी के सामने कहा था “ मैं एक मिडिल क्लास परिवार से आती हूं स्कूलीग और कॉलेज के बाद मैंने एयरफोर्स के लिए एग्जाम दिया और फिर  सेलेक्ट होकर एयरफोर्स अकैडमी  आई,  क्योंकि मैं सिविल बैकग्राउंड से आती हूं तो मुझे पहुंच का ज्यादा आइडिया नहीं था बस यह था कि कुछ करना है तो उड़ना सबसे बेस्ट ऑप्शन है क्योंकि मैंने कभी फौज की तरफ ध्यान नहीं दिया था इसलिए जब एकेडमी गई तब तक मुझे पता नहीं था कि लड़कियों को फ्लाइट दिया ही नहीं जाता मुझे लगता था कि एयरफोर्स मतलब फाइटर जेट्स भी उड़ाना होता है  इसी सोच के साथ गई थी बचपन से मुझे कभी फील ही नहीं हुआ कि मैं लड़की हूं तो हो सकता है फाइटर जेट्स मेरे लिए नहीं है मैं बस आम बच्चों की तरह आ गए बढ़ती गई और अभी यहां हूं

 भावना जब एयरपोर्ट्स में सिलेक्ट हुई उसी दौरान सरकार में फाइटर्स टीम में महिलाओं को लेने का फैसला  किया था एयर फोर्स अकैडमी में परफॉर्मेंस   स्टेज A की ट्रेनिंग और पसंद के हिसाब से भावना को फाइटर पायलट के तौर पर आगे के लिए चुना गया था  ऐसा ही अवनी चतुर्वेदी और मोहना सिंह के साथ भी हुआ  उसके बाद 2018  से 2019 मैं तीनों महिला फाइटर पायलट ने पहली बार भारत  के आसमान में  MiG-21  aircraft को उड़ाया भावना ने एक इंटरव्यू में कहा था कि एक बार कुछ फैसला कर दिया जाए तो फिर से पीछे नहीं हटना चाहिए चाहे फिर लोग कुछ भी कहें कुछ भी सोचे डटे रहना चाहिए भावना एक बार फिर इतिहास रचने को तैयार है (26 जनवरी) रिपब्लिक डे के दिन


इन्हे भी पढ़े 
* Uttarakhand GK. In Hindi
* Uttarakhand ke pramukh mndir
* Uttarakhand Ki Pramukh Yojana
* Uttrakhand Rajya ki Pramukh Jal Vidyut Pariyojna  




No comments:

Post a Comment

कृपया कमेंट में अपना सुझाव जरूर दें।

Current Affairs 8 February 2021

Current Affairs Current Affairs इन्हे भी पढ़े  * Budget 2021 Current Affairs GK *  25 - 31 January 2021 Current Affairs In Hindi *  Daily ...